Central Government appreciates Pujya Saiji's formula for protection against dengue.

मौसम में मच्छरों के दंश से फैलने वाली मौतों से बचाएगा साईं जी का फार्मूला

केंद्र सरकार ने सराहा विशेष प्रकार के पौधे लगाने का सुझाव

सूरत/ 28 जून/ पूज्य श्री नारायण साईं जी के समाज को बारिश के मौसम में मच्छरों के दंश से होने वाले गंभीर और जानलेवा रोगों से बचाने के लिए विशेष प्रकार के पौधे लगाने का सुझाव प्रधानमंत्री कार्यालय ने स्वीकार किया है.उन्होंने कहा है कि इस सुझाव को स्वच्छ भारत अभियान में शामिल किया जायेगा.जिससे समाज को गंभीर रोगों से बचाया जा सके.

हम आपको बता दे की पूज्य साईं जी आज सूरत जेल में होने के बावजूद समाज के हर वर्ग के लिए चिंतित रहते है. उन्होंने जब यह पढ़ा कि बारिश के मौसम में मच्छरों के दंश से होने वाले गंभीर रोगों के कारण हर साल देश में कई हजार लोग अपना जीवन गंवा देते है और तंग बस्तियों में रहने वाले असंख्य परिवार मौसमजन्य बिमारियों से पीड़ित हो जाते है तो उनका हर्दय द्रवित हो उठा.

पूज्य साईं जी ने माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी को एक विस्तृत कार्य योजना प्रेषित की. जिसमें उन्होंने बताया कि बारिश के मौसम में मच्छरों के दंश से होने वाले गंभीर और जानलेवा रोगों से बचाने के लिए विशेष प्रकार के पौधे लगाने से इस समस्या से लड़ने में महती सफलता मिल सकती है. उन्होंने बताया कि यूरोपियन पेनिरायल,लेमन बाम,पीपरमिंट, मोरपंख, गेंदे तथा गोलगोटे के पौधे लगाने से बारिश के मौसम में मच्छरों के दंश से होने वाले गंभीर ओर जानलेवा रोगों से सहज बचाव हो सकता है. ये प्राकृतिक चिकित्सा की दृष्टि से बेहद ही कारगर है. देश ओर विदेश में अनुसंधानिक आधार पर ये प्रमाणित हो चूका है कि उपरोक्त प्रकार के पौधे हर घर - आँगन ओर बगीचे सहित सार्वजानिक स्थान पर लगाने से मच्छरों का प्रकोप नियंत्रित हो जाता है तथा बारिश के मौसम में मच्छरों के दंश से होने वाले गंभीर और जानलेवा रोगों से बचाव में बड़ी मदद मिलती है. पूज्य साईं जी ने अपने सुझाव में यह भी कहा कि बारिश के दौरान इस तरह के खास पौधे लगाने के अभियान को जन अभियान के रूप में चलाया जाना चाहिए. इस कार्य में स्वयं-सेवी संस्थाओं की मदद ली जाना चाहिए और स्वच्छ भारत अभियान की तर्ज पर इसका प्रचार-प्रसार करते हुए इसे उस अभियान का अहम हिस्सा बनाया जाना चाहिए.

 

पूज्य साईं जी द्वारा दिए गये बहुमूल्य सुझाव को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लेते हुए इस पर कार्य करने का विश्वास दिलाया है.​


 

 

 

Share on :